Wednesday, January 20, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
पंचायत चुनाव : भीतरघात का ऑडियो वायरल, खूब हो रही चर्चाप्रथम चरण में हमीरपुर जिला में दिग्गजों ने किया मतदान, धूमल अनुराग ने समीरपुर , राजेंद्र राणा व अभिषेक राणा ने पटलांदर में किया मतदानसाहित्य संगम संस्थान नई दिल्ली द्वारा हुआ हिमाचल इकाई का भव्य उद्घाटनबारीं पंचायत में उपप्रधानी के लिए पांच के बीच फंसा जीत का पंजा बारीं की 95 वर्षीय बोहरी देवी इस बार भी मतदान को तैयार, पिछले 60 वर्षों से हर चुनाव में किया मतदानबमसन पंचायत समिति के लिए दो दिनों में भरे 90 नामांकन, ग्राम पंचायत बारीं में प्रधान पद के लिए जबरदस्त मुकाबलाBreaking : 37.9 किलोग्राम नशीले पदार्थ का फरार आरोपी हमीरपुर पुलिस ने दबोचा अफसोस रहेगा
-
कविता
अफसोस रहेगा
चिरागों तले जो रहे अंधेरे,
उन्हीं का भेद  रहेगा।
अफसोस रहेगा।
क्या कहूँ

साथ छोड़ चुका हूं हर उस शख्स का जो तुमसे जुड़ा है।

कोरोना

डा ० अर्चना मिश्रा शुक्ला# बाल गीत# कोरोना और बच्चों के मन में  उठे विचार

कोरोना

बच्चों के मन की आवाज बच्चों के मन की बात कोरोना काल में एक सुंदर बाल गीत #डॉक्टर अर्चना मिश्रा शुक्ला

सिर्फ...आंदोलन चलाए जाते हैं।

पंचवर्षीय सरकारों में ,
अमीर- गरीब के मापदंडों में, मध्यवर्ग को ,
बस वायदे ही थमाए जाते हैं ।

हकीकत

:डॉ०रामबली मिश्र हरिहरपुरी#पढ़ता हूँ पोथी मैं लिखता हूँ गाथा।

बड़े प्रेम से छू चरण लिख रहा हूँ।।

बाकी है।

बाकी है अभी
तुमसे मिलकर मुस्कुराना
क्योंकि बाकी है अभी
तुम को अपना बना कर
अपने सीने से लगाना।

लोकतंत्र......... है

लोकतंत्र #झूठ चलन में है#डॉक्टर अमिताभ शुक्ल का कोरोना काल में लोकतंत्र का विश्लेषण करती एक अद्भुत रचना

रचना .....

 मंजू भारद्वाज# रचना का सफर#किन शब्दों से मैं करूँ इनकी अर्चना,
पॉँव नही है पर विश्व भृमण करती है रचना।

दीपावली पर विशेष कविता सुहाना अहसास ऐसा होगा दुनिया की दास्ताँ -- माँ का प्यार अनूठा :डॉ मीरा त्रिपाठी पांडेय रोशनी की हर शय को टटोलता : सीमा सिन्हा मनोदशा कुछ ऐसी है .?मंजू भारद्वाज चाहत होती नहीं कुछ भी :राम भगत नेगी शहीद पांडे गणपत राय की कहानी, सीमा सिन्हा की कलम से दिनकर इस युग की बेटियाँ रोना छोड़ो* *माँ सरस्वती का अर्चन हो* भावनाएं *सुन्दर मन की रचना करना* हिंद की बेटी हिंदी हिंदी का विकास हिंदी दिवस पर हिंदी के प्रति प्रेम को दर्शाती रचनाएं आसान और मुश्किल मेरी अभिनव मधुशाला सुंदर भाव सच्ची खोज हरिहरपुरी की सूक्तियँ* श्री राधे नारी की सोच त्याग का दूसरा नाम गुरुजी का आशीष आज है श्रद्धा और श्राद्ध श्रद्धा ही ..श्राद्ध है