Tuesday, June 02, 2020
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
कोरोना काल में मार्गदर्शक बना गोगटा लोकमित्र केंद्र मडावग !अपडेट/ : हमीरपुर जिला में कोरोना संक्रमित के पांच नए मामले, अबतक ज़िले में कुल 20 मामले , 15 एक्टिव , 4 ठीक हुए , एक मौत ब्रेकिंग : हमीरपुर ज़िला में एक साथ कोरोना के पाँच मामले आए सामने, संक्रमितों में एक महिला भी शामिल ,ब्रेकिंग : हमीरपुर के नादौन उपमंडल की ग्वाल पत्थर पंचायत में दो व्यक्तियों के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टिब्रेकिंग: मड़ावग में नेपाली मूल के युवक ने फंदा लगाकर दी जान सेवा का ईनाम : दूसरी बार डीजीपी डिस्क अवॉर्ड से सम्मानित होंगे हमीरपुर के CID इंचार्ज जगपाल सिंह जसवाल ,ख़ास ख़बर : ग़ाज़ियाबाद का एक ऐसा स्कूल जिसने लॉकडाउन में तीन माह की फ़ीस माफ़ की और टीचरों के खाते में डाली सेलरी, हिमाचल के लालची स्कूलों के लिए करारा सबक़चौपाल, नेरवा में कल बंद रहेगी बिजली
-
हिमाचल

कोविड-19, हेल्थ व डिजास्टर फंड पर श्वेत पत्र जारी करे सरकार : राणा

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | May 23, 2020 05:10 PM
शिमला,
 
राज्य कांग्रेस उपाध्यक्ष एवं विधायक राजेंद्र राणा ने हेल्थ डिपार्टमेंट पर भ्रष्टाचार के आरोप सामने आने के बाद सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा है कि महामारी के इस दौर में हेल्थ डिपार्टमेंट पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों से सरकार व सिस्टम पर से जनता का भरोसा उठ गया है। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार से भयभीत सरकार अगर विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने से बचने का प्रयास कर रही है तो कोविड-19 को लेकर हेल्थ व डिजास्टर फंड पर तुरंत श्वेत पत्र जारी करे, ताकि जनता असुरक्षा के माहौल से उभर सके। राणा ने कहा कि सरकार द्वारा हाल ही में बजट पास किया गया है और वित्त वर्ष के केवल दो-अढ़ाई महीने ही बीते हैं। इसके बावजूद अभी तक किसी भी विभाग में कोरोना की आपा धापी में बजट के खर्च की शुरुआत ही नहीं हो पाई है। जिस कारण से प्रदेश में विकास कार्य पूरी तरह ठप्प हो कर रह गए हैं। राणा ने बड़ा सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि प्रदेश में महामारी की 
भयभता को देखते हुए जो 1 हजार करोड़ का बजट सरकार ने मंडी में हवाई अड्डा बनाने के लिए रखा हुआ है, उस बजट को स्वास्थ्य विभाग को दिया जाए, क्योंकि जान बचेगी तो हवाई अड्डे बनाने के बहुत मौके सरकार को मिलेंगे। इस वक्त स्वास्थ्य विभाग में बजट की मांग भी है और जरूरत भी है, ताकि इस बजट से भविष्य के खतरे को देखते हुए प्रदेश में कोविड हॉस्पिटल व प्रदेश के अस्पतालों में जीवन के लिए जरूरी वेंटीलेटर और कोरोना बचाव के जरूरी सामान खरीदे जा सकें। राणा ने कहा कि जब से जयराम सरकार अस्तित्व में आई है तभी से हेल्थ डिपार्टमेंट लगातार भ्रष्टाचार के आरोपों के कारण सुर्खियों में रहा है और अब महामारी के दौर में भी यह विभाग भ्रष्टाचार पर सुर्खियां बटोर रहा है। अब सरकार व सिस्टम के बीच के लोगों ने ही सीएमओ स्तर पर 120 करोड़ की खरीद का मामला चर्चा में ला दिया है। राणा ने कहा कि बेशक सरकार को इस वक्त विपक्ष की बातों पर गुस्सा आता है लेकिन यह भी तय है कि जब विपक्ष आवाज उठाता है सरकार तभी कार्रवाई करती है? अन्यथा मूक और मौन की मुद्रा में रहती है। ऐसा ही सेनेटाइजर खरीद मामले में भी हुआ है। विपक्ष ने जब इस मुद्दे पर आवाज उठाई तब जाकर सीएम ने विजिलेंस को यह जांच सौंपी है जिसमें सरकार व सिस्टम के बीच का भ्रष्टाचार का मोहरा बने डायरेक्टर को हिरासत में लिया गया है।
Have something to say? Post your comment
 
और हिमाचल खबरें
डी. डी. जस्टा की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड 19 के संदर्भ में मुख्य पहलुओं पर की चर्चा चौपाल के लिटिल चैंप द्रोण चंदेल बने ब्राजील आईटीएमयूटी संस्थान के इंटरनेशनल पीस एम्बेसडर 25 मार्च से शुरू चार चरणों के लॉक डाउन के बाद नेरवा में बसों की आवाजाही हुई शुरू कालका से आज भेजे गए 1486 व्यक्ति सोलन जिला से आज कोरोना संक्रमण जांच के लिए भेजे गए 25 सैम्पल पहले दिन हिमाचल पथ परिवहन निगम ने किए 2222 रूट बहाल एसजेपीएनएल द्वारा 24 घंटे पेयजल आपूर्ति के लिए परीक्षण  जरूरी हो तो ही करें यात्रा:  परिवहन मंत्री जिला मजिस्ट्रेट द्वारा सलूणी उप मंडल की 3 पंचायतों के डीसीलिंग आदेश जारी  विधि एवं संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने वीडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से शिमला ग्रामीण के सभी स्तरों के प्रतिनिधियों से सहयोग की अपील की।