Tuesday, March 02, 2021
Follow us on
ब्रेकिंग न्यूज़
https://youtu.be/XtZXmzukedcनगर निगम के चुनाव पार्टी चिन्ह पर करवाए जाने का कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राठौर ने किया स्वागतशराब और भांग का नशा ऐसा छाया की साधु ने तोड़े गाड़ी के शीशे,https://youtu.be/j8Ck3V67CNAफिर लोगों ने की जमकर पिटाईसुबह सुबह अवैध रूप से बिजली का प्रयोग करते विद्युत विभाग ने एक आरोपी दबोचा बड़ी खबर :एसजेवीएन अंतर्राष्ट्रीय सौर एलाईंस में शामिल हुआहमीरपुर जिला में हर्षोल्लास से मनाया गया 72वां गणतंत्र दिवस समारोह, शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने की जिला स्तरीय समारोह की अध्यक्षता, राष्ट्रध्वज फहराकर मार्चपास्ट की सलामी लीसमीक्षा : वार्ड पंच से लेकर जिला परिषद तक पटक डाले जनता ने , हेकड़ी , घमंड व बड़े नेताओं की धौंस हुईं जमींदोज पंचायत चुनाव : भीतरघात का ऑडियो वायरल, खूब हो रही चर्चाप्रथम चरण में हमीरपुर जिला में दिग्गजों ने किया मतदान, धूमल अनुराग ने समीरपुर , राजेंद्र राणा व अभिषेक राणा ने पटलांदर में किया मतदान
-
शिक्षा

निजी विश्वविद्यालयों में फर्जी डिग्री बेचना हिमाचल के लिए बहुत बड़ा कलंक! डिग्री फर्जीवाड़े की जांच में लाई तेजी।

हिमालयन अपडेट ब्यूरो | December 23, 2020 07:00 PM

शिमला,


मानव भारती विश्वविद्यालय में एसआईटी टीम की जांच द्वारा 45 हजार फर्जी डिग्रियां बेचने का फर्जीवाड़ा हिमाचल प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पर बहुत बड़ा कलंक है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद हिमाचल प्रदेश के प्रदेश मंत्री विशाल वर्मा ने बयान जारी करते हुए कहा कि विद्यार्थी परिषद शुरू से ही प्रदेश में भारी संख्या में निजी विशवविद्यालयों का खुलना और शिक्षा के व्यापारीकरण का विरोध करती आई है। विद्यार्थी परिषद ने कई वर्ष पहले ही यह आशंका जताई थी की प्रदेश में शिक्षा का निजीकरण और व्यापारी करण आने वाले समय में शिक्षा को बेचने का कार्य भी कर सकता है इसलिए इन पर नजर रखना बहुत आवश्यक है। और आज हम देखते हैं कि नियामक आयोग का सुस्त रवैया और सरकारों द्वारा धड़ाधड़ निजी विश्ववद्यालयों को खोलने के परिणामस्वरूप विद्यार्थी परिषद की यह आशंका आज सच साबित हो रही है। जिस तरह का फरजीवाड़ा मानव भारती विश्वविद्यालय में सामने आया है ऐसे ही कई और फर्जीवाड़े अन्य विश्वविद्यालय में भी चल रहे हैं। चाहे वो निजी विश्ववद्यालयों द्वारा गलत तरीके से स्टडी कोर्स करवाना हो, बिना मान्यता के डिस्टेंस कोर्स करवाना, एक ही समय पर अपने विश्वविद्यालय के स्टाफ को नौकरी व डिग्री करवाना ऐसे कई प्रकार के घोटाले हिमाचल प्रदेश के कई निजी विशवविद्यालयों में चल रहे हैं। विद्यार्थी परिषद मांग करती है कि प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था को कलंकित करने वाले ऐसे विश्वविद्यालयों को तुरंत प्रभाव से बन्द किया जाए तथा ऐसे मामलो मे संलिप्त दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाए। विद्यार्थी परिषद प्रदेश की सरकार से यह मांग करती है कि इस विषय को गम्भीरता से लेते हुए इसकी जांच में तेजी लाई जाए व प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए सार्थक प्रयास किए जाएं।

 
Have something to say? Post your comment
और शिक्षा खबरें
निजी स्कूलों पर शिकंजा कसने का फैसला बिल्कुल सही, छात्रों को नहीं लूट पाएंगे निजी स्कूल - अभाविप जेबीटी पदों की काउंसलिंग 22 व 23 फरवरी को  इग्नू में प्रवेश तथा पुनः पंजीकरण के लिए ऑनलाइन आवेदन 28 फरवरी तक निजी पाठशालाएं 5वीं तथा 8वीं कक्षाओं में अध्ययनरत विद्यार्थियों की सूची 10 फरवरी से पूर्व जमा करवाएं-  सुदर्शन कुमार कुनिहार विकास खण्ड की ग्राम पंचायतवार मतदान तिथियां सैनिक स्कूल में छठीं और नवीं कक्षा के लिए प्रवेश परीक्षा 10 जनवरी को नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ़ी जवाहर नवोदय विद्यालय पंडोह में प्रवेश हेतु ऑनलाइन आवेदन अब 29 दिसम्बर तक सैनिक स्कूलों में प्रवेश हेतु आवेदन करने की तिथि बढ़ी जेएनवी में छठी कक्षा में प्रवेश पाने के लिए अब 29 दिसम्बर तक कर सकते हैं आवेदन